The State of Chhattisgarh is known as rice bowl of India and follows a rich tradition of food culture .The Food preparation falls in different categories . Most of the traditional and tribe foods are made by rice and rice flour , curd(number of veg kadis) and variety of leaves like lal bhaji,chech bhaji ,kohda , bohar bhaji. Badi and Bijori are optional food categories also Gulgula ,pidiya ,dhoodh fara,balooshahi ,khurmi falls in sweet categories.

Jai Sai Baba

Search More Recipes

Thursday, May 21, 2020

Jimikand kadhi - Suran ki sabji -जिमीकंद की कढ़ी


Chhattisgarh recipes-Jimikand kadhi


















Ingredients :

Jimikand, Ratalu or yum -500grams

Curd - 500 ml

curry leaves

Tomato - 2

Red chilli -3-4

Mustard seeds -1/2 table spoon

Fenugreek seeds -1/2 table spoon

Salt - as per taste

Turmeric powder -1/2 table spoon

Red chilli powder - table spoon

Coriander powder - 1/2 table spoon

Oil

Preparation for Jimikand :


For this Chhattisgarh recipe take 500 gram of of jimikand wash it properly and cut in Big pieces.
Take a cooker put the pieces inside the cooker add  one lemon or tamarind or fitkiri. Add half tablespoon salt and cover the the lead. Give three to four vessels to it and weight until pressure come down


Jimikand/ratalu/suran/elephant yam


Open the cooker take out the jimikand pieces peel off the outer layer shop in the similar PCS and spread it on the tray. Dry in the sunlight are direct under the fan.

It will take 5 - 6 hours or a day.

Jimikand chopped pieces


Preparation of curd :


Take 500 gram curd in a grinder , add salt  turmeric powder red chilli powder and one to two spoons of Gram flour little water and mix it in a grinder to prepare buttermilk out of the curd.

Curd or butter milk


Preparation of kadhi :


Take oil in a pan and let it heat .

Now take the dry pieces of Jimikand and deep fry in the oil. Once the pieces become golden brown take them out.


Fried Jimikand /yum pieces


Once oil is heat then add mustard and fenugreek(methi seeds).

Add 3-4 full Red chillies curry leaves tomato pieces add little ginger garlic paste and stir it well.

Once tomatoes become soft and cooked add salt as per your taste turmeric powder coriander powder red chilli powder little hing, which is optional.

Mix all the ingredients well and leave it to cook for sometime.

Now it's time to add fried Jimikand pieces in the prepared mixture, cover the lid and cook it for 2 minutes.



add caption


Open the lid and check , oil must be coming out from the jimikanda mixture at the prepare buttermilk in it. When you find buttermilk concentrated ,then add little water in it and let it cover and cook.

The buttermilk starts boiling then open the lid and check whether jimikand is completely cooked with buttermilk.

Jimikand kadhi is ready to serve with steamed rice.

Note: Jimikand is very famous Chhattisgarh recipe. Chhattisgarh recipe is full of minerals and health benefits. It uses to treat and many e diseases.


छत्तीसगढ़ रेसिपी को बनाने के लिए 500 ग्राम्स जिमीकंद ले उन्हें बड़े बड़े टुकड़ों में काट लें। इन टुकड़ों को प्रेशर कुकर में डालें और उसके साथ इमली नींबू या फिर फिटकिरी जो भी आपके पास हो उसका एक टुकड़ा कुकर में डालें और नमक डालकर थोड़ा पानी डालें और 4 से 5 सिटी तक उबालने के लिए छोड़े। जब कुकर ठंडा हो जाए ठतब जिमी कांदा के उबले हुए टुकड़ों को बाहर निकाल कर एक समान आकार के छोटे टुकड़ों में काट लें। इन टुकड़ों को एक बड़ी थाली या प्लेट में फैलाकर धूप में या पंखे के नीचे 4-5 घंटे तक सुखा लें ।

एक मिक्सर ग्राइंडर में 500 मिलीलीटर दही ले, उसमें दो चम्मच बेसन, नमक स्वादानुसार, आधा चम्मच हल्दी पाउडर आधा चम्मच मिर्च पाउडर, आधा चम्मच जीरा पाउडर, आधा चम्मच धनिया पाउडर और थोड़ा पानी मिलाकर मही या छाछ तैयार कर ले।

अब एक कड़ाही में तेल ले और गर्म करें, जब तेल अच्छी तरह गरम हो जाए उसमें जिमीकंद के सूखे टुकड़ों को सुनहरा होते तक तल लें।
अब इस छत्तीसगढ़ रेसिपी के लिए गरम तेल में सरसों के दाने, मेथी के दाने, करी पत्ता, खड़ी लाल मिर्च डालें । आप टमाटर के टुकड़ों को डालकर अच्छी तरह पकने दें। जब टमाटर पकने लगे तब स्वादअनुसार नमक हल्दी मिर्च पाउडर धनिया पाउडर डालकर अच्छे से मिलाएं और 2 मिनट तक पकने दें। जब आप देखें की मिश्रण में से तेल बाहर आ रहा है तब इनमें जिमीकंद के तले टुकड़ों को डालकर अच्छे से मिलाएं और 2 मिनट ढककर पकने दें। जब आप ढक्कन खोलें तो देखेंगे सब्जी में से तेल बाहर आ रहा है इस टाइम पर दही या मही को डालकर चला ले और ढककर पकने दें। जब उबाल आने लगे तब ढक्कन खोलें और देखें कि जिमकंद दही के साथ अच्छी तरह पक गया है। इस समय पर जिमीकंद की कढ़ी गरम चावल के साथ परोसने के लिए बिल्कुल तैयार है।

नोट  जिमीकंद छत्तीसगढ़ में बहुत ही प्रसिद्ध है जिमीकंद की कढ़ी को बहुत स्वाद से खाया जाता है। यह एक पौष्टिक सब्जी है जो प्रोटीन के साथ-साथ खाद्य लवण से भरी हुई है।






No comments :

Post a Comment