The State of Chhattisgarh is known as rice bowl of India and follows a rich tradition of food culture .The Food preparation falls in different categories . Most of the traditional and tribe foods are made by rice and rice flour , curd(number of veg kadis) and variety of leaves like lal bhaji,chech bhaji ,kohda , bohar bhaji. Badi and Bijori are optional food categories also Gulgula ,pidiya ,dhoodh fara,balooshahi ,khurmi falls in sweet categories.

Jai Sai Baba

Search More Recipes

FlipKart Offers!!

Buy Online with Discount

Thursday, November 23, 2017

Ghee (Clarified butter)/ घी

The traditional process of making ghee at home.

Things required : Malai, wooden stick,pan ,strainer,pan 

Preparation Time : 30 minutes


1.Collect malai (cream -yellow layer of the Milk which sceamed off) for few days and keep it in fridge.
 दूध से मलाई निकल कर कुछ दिनों तक इकठ्ठा करें और फ्रिज में रखें।


 










2.Take malai in big or deep utensil and stir the Malai with the help of wooden stick (Mathani) for 5-10 minutes.
अब मलाई को किसी चौड़े या गहरे बर्तन में लेकर लकड़ी की मथनी से ५-१० मिनट तक मथें। 












3. Because of stiring, malai will start getting thinner in consistency (less concentrated).
  मथने के कारण मलाई की अवस्था थोड़ी पतली होने लगती है। 












4. slowely the fat part (butter) of the malai start segregetting from the water or lequid portion of it.
   धीरे धीरे मलाई का मक्खन वाला हिस्सा पानी वाले  हिस्से से मथने के कारण अलग होते जाता है। 












5. Collect all the butter in one pan.Now take some water and  pour one time on butter and let the water drain . 
    एक दूसरे बर्तन में मक्खन को इकठ्ठा कर लें और एक बार पानी से इसे धों लें। 











6. Now start heating the butter in medium flme,sloweli it will start melting 
    अब मक्खन को मध्यम आंच में गर्म करें। धीरे धीरे मक्ख़न पिघलने लगता है।  












7.  butter reaches its boiling pont, where all the available water gets evoperated from it.
     मक्खन जब उबलने लगता है और इसमें उपस्थित सारा पानी भाप बन कर उड़ जाता है। 












8.   Now you can see ghee clearly , heat it for some more time .All ghee will be up and residue will go down .
     मक्खन को थोड़ा और गरम होने दें।  आप अब घी को ऊपर और बची हुई मलाई की एक परत को बर्तन के नीचे पाएंगे। 

 9 . Now use a strainer and separate the Ghee from the residue.
     अब छननी की सहायता से घी को अलग कर लें।
  






  




10 . Now Pure homemade Ghee is ready .
       घर में बनाया हुआ शुद्ध घी तैयार है। 













11. Ghee becomes setteled once it gets cold . You can store it for many days.
      घी ठंडा होने पर जैम जाता है। आप इसे कई दिनों तक रख सकते हैं।  


   










 Note : Ghee made from cow milk is considered Sacred .From thousands of years , we in India making at home and using it .Ghee  has lots of wonderful  medicinal properties . Ghee is a important culinary ingredient .

नोट : गाय के दूध से बने हुए घी को पवित्र मन जाता है।  हज़ारों सालों से भारत में घी घरो में बना कर प्रयोग करने की परंपरा रही है।  घी में कई अदभूत चिकत्सीय गुण होते हैं और पाककला का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा है।  

No comments :

Post a Comment